सेवा सुमिरन और त्याग सीखें हनुमान से – भट्टी
June 5th, 2019 | Post by :- | 50 Views

कुरुक्षेत्र, ( सुरेशपाल सिंहमार )   ।          प्रसिद्ध दु:खभंजन मंदिर में ज्येष्ठ मास के मंगलवार को हवन यज्ञ किया गया। जिसमें वीर बजरंगी के भक्तों ने सबकी सुख-शांति के लिए पूर्ण आहूति डाली और पूजा-अर्चना की तथा वीर बजरंगी को फल-फूल चढ़ाया तथा  सिंदूर व फूलों से सजाया गया। बजरंगी सरदार कुलवंत सिंह भट्टी ने कहा कि जो मिसाल वीर बजरंगी ने त्रेतायुग में कायम की वह आज भी मौजूद है। सारे संसार में प्रभु राम की सेवा, सुमिरन व अपना जीवन ही प्रभु राम के चरणों मे ंलगा देने वाले वीर हनुमान आज भी प्रासंगिक है। हमें उनसे प्रेरणा मिलती है।

इस अवसर पर जगन्नाथ अत्रे मैनेेजर, ज्ञान चंद पराशर, एचके पाल, कुलवंत सिंह भट्टी, संजय, पं प्रमोद कौशिक, सुनील वधवा, श्रवण कुमार,  तिलक वधवा, राजेन्द्र कुमार, कुसुम गांधी, कश्मीराी लाल, संतोष तिवाड़ी, सुशाीला रानी, राधा रानी, रुपा, सुभाष, राजेश वत्स, कुसुम गांधी,  श्यामसुंदर, राजकुमार शर्मा, मेहरचंद मुखी, एमके मौदगिल,  ओ.पी. कपूर, पदम जोशी,  जिले सिंह, विशाल अत्री, राधारमन अत्री, केशव अत्री,  तिलक राज धमीजा, दर्शन पुरी, मनोहर लाल खुंगर, दर्शन पाहवा, अनिरुद्ध कौशिक, सुरेन्द्र, सतीश वालिया, आदि श्रद्धालु प्रमुख रुप से मौजूद रहे।