साहब ! कब चलेगा पीला पंजा , नूंह जिले के शहरों व उपमंडलों में अतिक्रमण कारियों का आतंक।
April 23rd, 2019 | Post by :- | 139 Views
नूंह मेवात ,( लियाकत अली )  । मेवात जिला मुख्यालय नूंह शहर के अलावा पुन्हाना ,पिनगवां ,फिरोजपुर झिरका , नगीना के बाजार पूरी तरह अतिक्रमण के शिकार हैं। नूंह सब्जी मंडी शहर के बीचोंबीच होने के कारण रेहड़ी वालों का जमावड़ा है। दुकानदारों ने रास्ते में अपने सामान को रखा हुआ है। टेक्सी स्टैंड भी मुख्य बाजार में ही बनाया हुआ है। कई दर्जन गॉवों के लोग अपने वाहनों को सामान खरीदने के लिए शहर नूंह में लाते हैं ,जिन्हें पार्किंग नहीं होने के कारण दुकान के सामने ही लगाया जाता है। फायर बिर्गेड की गाड़ी को भी कई बार बाजार सकड़ा होने के कारण निकलने में भारी कमी होती है। अतिक्रमण के कारण जाम भी अकसर लगा रहता है। दुकानदार तो मजे लूट रहे हैं लेकिन आमजन को अतिक्रमण ने हिला कर रख दिया है। इतना ही नहीं पुन्हाना अनाज मंडी के सामने तो रोजाना जाम लगना आम बात हो गई। जाम की समस्या से आमजन को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
पुन्हाना बाजार व सड़कों पर रोड़ी बजरी की दुकानें ,लकड़ी मार्किट के आदि दुकानदारों ने मार्ग पर सामान रखा हुआ है। पुन्हाना नगर पालिका के नाक के नीचे हरे पेड़ ,व बगीचे के पेड़ बेके जा रहे है। लेकिन अधिकारी कार्यवाही करने वजाए नगरपालिका देख कर चले जाते है।
आपको बतादें कि उपायुक्त के आदेश पर जिले कि नगरपालिकाओं ने कई बार अतिक्रमण को हटाने की पहल की लेकिन अगले ही दिन फिर से बाजार की तस्वीर पुरानी दिखाई देने लग जाती है । नूंह , पुन्हाना और पिनगवां शहरों में अतिक्रमणकारियों के हौंसले बुलंद  दिखाई दे रहे है । प्रशासन अतिक्रमण और जाम को लेकर गंभीर नहीं है। डीसी  के सख्त आदेश के बाद भी कब्ज़ा धारियों  से सख्ती से नहीं निपटा गया । उसी का नतीजा है कि एक के बाद एक शहरों से अतिक्रमण लगने का सिलसिला बदस्तूर जारी है। लोगों ने अतिक्रमण हटाने की मांग की है। अतिक्रमण के चलते जिला मुख्यालय नूंह शहर की खूबसूरती को बट्टा लग रहा है।