✒ हरियाणा सरकार के नोटिफिकेशन के अनुसार प्रिंट और इलेक्ट्रोनिक मीडिया के साथ न्यूज़ वेबपोर्टल पत्रकारों को भी मिलेगी मान्यता प्राप्त सुविधाएं
April 23rd, 2019 | Post by :- | 151 Views
क्या हरियाणा सरकार जर्नलिस्ट मीट में किया अपना वायदा पूरा करेगी।,   

हरियाणा सरकार ने वायदा किया था कि प्रिंट और इलेक्ट्रोनिक मीडिया के साथ सोशल मीडिया पत्रकारों को भी मान्यता देगी

.

पंचकूला,  ।        हरियाणा की मनोहर सरकार शनिवार पत्रकारों पर खासी मेहरबान दिखी। स्वर्ण जयंती वर्ष को लेकर लोक संपर्क विभाग द्वारा पंचकूला के इंद्रधनुष ऑडिटोरियम में करवाए गए जनर्लिस्ट मीट में सीएम ने कई बड़ी घोषणाएं की। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मंच से घोषणा करते हुए कहा कि हरियाणा में 20 साल तक पत्रकारिता करने वाले मान्यता प्राप्त पत्रकारों को सरकार 10 हजार रुपए प्रति माह पेंशन देगी।

 सीएम ने मंच से कहा कि रेवाड़ी के गुड़ियानी में पत्रकार बालमुकुंद गुप्त के पैतृक गांव में सरकार स्मारक बनाने पर विचार करेगी। इसके साथ ही सीएम ने न्यूज पोर्टल को भी मान्यता देने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की घोषणाओं के कुछ अंश निम्नलिखित हैं।
पत्रकारों से जुड़ी सीएम की अहम घोषणाएं
हरियाणा सरकार प्रिंट और इलेक्ट्रोनिक मीडिया के साथ सोशल मीडिया पत्रकारों को भी मान्यता देगी।
5 साल तक पत्रकारिता करने वाले को मान्यता दी जाएगी। वेबपोर्टल पत्रकारों को भी मान्यता देंगे।
मान्यता प्राप्त पत्रकारों को 5 लाख रुपए का कैशलेस मेडिक्लेम दिया जाएगा।
20 साल निरंतरता की शर्त नहीं रहेगी। 20 साल पत्रकारिता कहीं भी और 60 साल उम्र वाले को भी 10 हजार रुपए पेंशन मिलेगी।
इलेक्ट्रोनिक मीडिया में उपमंडल स्तर पर मान्यता।
पत्रकारों का जीवन बीमा 10 और 20 लाख का होगा जो शेयरिंग बेस पर आधारित होगा।
जिला स्तर पर पत्रकारों के बैठने के लिए DIPRO कार्यालय के साथ 2 कमरों में मीडिया सेंटर बनाया जाएगा।
सीएम ने की पत्रकारों की प्रशंसा
जर्नलिस्ट मीट में मंच से संबोधित करते हुए मुख्मयंत्री मनोहर लाल ने पत्रकारों की जमकर प्रशंसा की। सीएम ने कहा कि पत्रकार की समाज में अहम भूमिका है। हरियाणा में पत्रकार बड़ी भूमिका निभा रहे हैं। पत्रकार रिस्क लेकर अपनी भूमिका अदा करता है।
उन्होंने इस दौरान सतलोक आश्रम के संत रामपाल प्रकरण की भी चर्चा की और उसमें मीडिया के टूटे कैमरों का भी जिक्र किया।
सीएम ने कहा, “खींचो न कमानों को न तलवार निकालो, जब काम न बने तोपों से तो अख़बार निकालो।” सीएम ने अंत में पत्रकारों को सैल्यूट किया और उन्हें निर्भीक पत्रकारिता करने का मंत्र भी दिया।
.
नोटिफिकेशन भी पढ़े .
.