कब बुलबुल बच्चों ने मनाया अर्थ डे पर्यावरण के प्रति जागरूक होना जरूरी :-राजेश वशिष्ठ
April 22nd, 2019 | Post by :- | 134 Views

जींद, लोकहित एक्सप्रेस, (अनिल सैनी)। प्राथमिक कक्षाओं के छोटे छोटे बच्चों(कब बुलबुल ) ने आज अर्थ डे पर पर्यावरण के प्रति अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए रैली और ड्राइंग पेंटिंग से समाज के लोगो को जागरूक किया। जिला संगठन आयुक्त के नेतृत्व में कब बुलबुल बच्चों ने पर्यावरण को हरा भरा बनाये रखने और इसको प्रदूषण मुक्त बनाये रखने के लिए कार्यक्रम का आयोजन किया गया । बतौर मुख्य अतिथि जिला संगठन आयुक्त राजेश वशिष्ठ ने शिरकत की । उन्होंने कब, बुलबुल ,कब मास्टर ,फ्लॉक लीडर को अपने संबोधन में बताया आखिर क्यों मनाया जाता है । अर्थ डे, सबसे पहले किसने रखा ये नाम ‘अर्थ डे’। दुनिया भर में पर्यावरण संरक्षण को समर्थन देने के लिए हर साल 22 अप्रैल को ‘पृथ्वी दिवस’ या ‘अर्थ डे’ मनाया जाता है । बता दें, पृथ्वी दिवस की स्थापना अमेरिकी सीनेटर गेलोर्ड नेल्सन ने पर्यावरण की शिक्षा के रूप में की थी । सबसे पहले इस दिन को मनाने की शुरुआत सन् 1970 में हुई । जिसके बाद आज इस दिन को लगभग 195 से ज्यादा देश मनाते हैं। 22 अप्रैल 1970 को आयोजित सबसे पहले पृथ्वी दिवस में लगभग 20 मिलियन अमेरिकी लोगों ने हिस्सा लिया था.। खास बात यह है कि इस आयोजन में भाग लेने के लिए हर समाज, वर्ग और क्षेत्र से लोग सामने आए थे ।’पृथ्वी दिवस’ या ‘अर्थ डे’ शब्द को लोगों के बीच सबसे पहले लाने वाले जुलियन कोनिग थे. सन् 1969 में उन्होंने सबसे पहले इस शब्द से लोगों को अवगत करवाया । पर्यावरण संरक्षण से जुड़े इस आन्दोलन को मनाने के लिए उन्होंने अपने जन्मदिन की तारीख 22 अप्रैल को चुना । उनका मानना था कि ‘अर्थ डे’ के साथ ‘बर्थ डे’ ताल मिलाता है।आज भी पर्यावरण-प्रेमी नदियों में फैक्ट्री का गंदा पानी डालने वाली कंपनियों को रोकने ,जहरीला कूड़ा इधर उधर फेकने पर रोक लगाने और जंगलों को काटने वाली आर्थिक गतिविधियों को रोकने के लिए लगातार कार्य कर रहे हैं ।