हिमाचल में सुबह सात से शाम छह बजे तक वोटिंग, 7723 मतदान केंद्र स्थापित
April 15th, 2019 | Post by :- | 41 Views

हिमाचल में लोकसभा चुनावों के लिए सुबह सात बजे वोटिंग शुरू हो जाएगी। अन्य राज्यों के मुकाबले जल्द शुरू हो रही वोटिंग शाम छह बजे तक निर्धारित की गई है। इस समयावधि तक मतदान केंद्र परिसर में पहुंचकर पर्ची लेने वालों को मतदान के लिए अधिकृत कर दिया जाएगा। इसके लिए समयसीमा की बंदिश लागू नहीं होगी। राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी देवेश कुमार ने बताया कि हिमाचल में सुबह सात बजे से लेकर शाम छह बजे तक मतदान होगा। शाम छह बजे तक मतदान की पर्ची लेने वाला मतदाता वोट कास्ट कर ही लौटेगा, चाहे इसके लिए रात के दस बज जाएं। हिमाचल प्रदेश में मतदान अंतिम व सातवें चरण में होगा। इसके लिए राज्य निर्वाचन विभाग ने पुख्ता प्रबंध कर लिए है। बताते चलें कि नक्सल तथा आतंक प्रभावित राज्यों में वोटिंग के लिए अलग-अलग समय निर्धारित किया है। कई राज्यों में मतदान सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक ही चलेगा। इसके विपरीत हिमाचल में मतदान के लिए 11 घंटे का समय निर्धारित किया गया है। राज्य में 19 मई को मतदान प्रस्तावित है। पिछले लोकसभा चुनावों के मुकाबले इस बार मतदान को लेकर कई पुख्ता व कड़े प्रबंध किए गए हैं।

792 केंद्रों से वेबकास्ट

प्रदेश के 792 मतदान केंद्रों को वेबकास्ट सुविधा से जोड़ कर वोटिंग का सीधा प्रसारण किया जाएगा। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में शुरू की गई यह व्यवस्था सुचारू रूप से शुरू नहीं हो पाई थी। इसके चलते इस बार हाई टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर सीधा प्रसारण होगा।

वालंटियर की तैनाती

बुजुर्ग व दिव्यांग मतदाताओं के सहयोग के लिए पहली बार पोलिंग स्टेशन में वालंटियर तैनात किए जा रहे हैं। हर मतदान केंद्र पर एक महिला और एक अन्य हेल्पर वोटर के सहयोग के लिए रखे जाएंगे। इसके अलावा शीतल पेयजल की व्यवस्था प्रस्तावित है।

7723 मतदान केंद्र स्थापित

राज्य में 7723 मतदान केंद्र स्थापित किए गए हैं। प्रदेश में 51 लाख से अधिक मतदाता वोटर लिस्ट में शामिल है। चुनाव आयोग ने 30 लाख से ज्यादा मतदाताओं के पोलिंग स्टेशन तक पहुंचाने का प्रयास है। इसके तहत चुनाव आयोग ने 65 फीसदी से ज्यादा मतदान का लक्ष्य निर्धारित किया है। खास है कि इस बार एक लाख 20 हजार युवा नए वोटर बनाए गए हैं।

38 हजार दिव्यांग वोटर

चुनाव आयोग ने राज्य में 38 हजार दिव्यांग मतदाताओं का नाम वोटर सूची में शामिल करने का अनूठा कीर्तिमान स्थापित किया है। इन्हें मतदान केंद्र तक ले जाने के लिए वाहनों की सुविधा की गई है। इसके अलावा हर मतदान केंद्र में रैंप बनाने का दावा किया गया है। इसके तहत दिव्यांग वोटरों को व्हील चेयर उपलब्ध करवा कर मतदान करवाया जाएगा।