राष्ट्रीय लोक स्वराज पार्टी सूबे की सभी दस लोकसभा सीटों पर अपना उम्मीदवार उतारेगी।
April 15th, 2019 | Post by :- | 50 Views
नूंह मेवात ,( लियाकत अली )  ।  हरियाणा पुलिस के पूर्व आईजी एवं राष्ट्रीय लोक स्वराज पार्टी के अध्यक्ष रणबीर शर्मा ने गुरुग्राम से अपने उम्मीदवार का एलान करने के बाद नूंह पहुंचे । उम्मीदवार जैदी के साथ पूर्व आईजी रणबीर शर्मा नूंह पहुंचे और लोकसभा चुनाव के सीजन में शौकत खान गुढ़ा – गुढी को संगठन सचिव हरियाणा नियुक्त किया। । अब तक उपरोक्त पार्टी सूबे की 7 लोकसभा सीटों पर अपना उम्मीदवार उतार चुकी है। जल्दी ही 3 लोकसभा सीटों पर उम्मीदवार उतार दिए जाएंगे। चंडीगढ़ , हरियाणा , पंजाब में कुछ सीटों पर उम्मीदवार उतारे जा सकते हैं।
  राष्ट्रीय लोक स्वराज पार्टी सूबे की सभी दस लोकसभा सीटों पर अपना उम्मीदवार उतारेगी और जीत भी दर्ज करेगी। उन्होंने कहा कि गांव की भी अपनी सरकार होगी , शहर  सरकार होगी । ग्राम सभा में लोग खुद अपने फैसले लेंगे। पूर्व आईजी ने कहा कि जो उम्मीदवार हम मैदान में उतार रहे हैं। उनकी छवि , योग्यता ही नहीं बल्कि उनसे शपथ पत्र लिया जा रहा है। जिसमें शिक्षा , चिकित्सा , रोजगार ,  सुरक्षा सम्पति का ब्यौरा , समाज को बांटने का प्रलोभन नहीं देना , मुकदमा दर्ज नहीं है। जैसे कई महत्वपूर्व वचन लिए जा रहे हैं। निर्वाचित होने पर 73 – 74 वां संशोधन लागू करना होगा। इस शपथ पत्र पर कैंडिडेट से अध्यक्ष तक के हस्ताक्षर होंगे। पूर्व आईजी ने अधिकारियों से लेकर सफेदपोश राजनेताओं पर खुलकर हमला करते हुए लोक स्वराज पार्टी का साथ देने की बात कही। अगर भाजपा – कांग्रेस अपने उम्मीदवारों के टिकट पर ऐसे साइन कर शपथ पत्र जनता के सम्मुख रखें , तो वो अपनी पार्टी को ही समाप्त कर देंगे। मौजूदा राजनेता शपथ पत्र पर साइन करने की हिम्मत नहीं रखते। भाजपा को बहुत झूठी पार्टी बताते हुए पूर्व आईजी ने उसे घेरने में कोई कमी नहीं रखी। लोकसभा उम्मीदवार आजाद हसनेन जैदी ने पत्रकारों से कहा कि अगर वे जीते तो मेवात में रेल लाई जाएगी। जीते तो संसद में आम आदमी की आवाज बुलंद होगी और हारे तो सड़क पर संघर्ष होगा। वो जितने के लिए चुनाव नहीं लड़ रहे हैं। मौजूदा सांसद केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह पर भी पूर्व प्रवक्ता हरियाणा पुलिस जैदी ने करारा वार किया। दोनों नेताओं ने सत्ता में आने पर घोषणा पत्र की सभी मांगों को अमलीजामा पहनाने का भरोसा दिलाया।