पिछड़ा वर्ग विरोधी पार्टियों को सिखाएं सबक – प्रो० लिम्बा
April 14th, 2019 | Post by :- | 223 Views

कुरुक्षेत्र, लोकहित एक्सप्रेस,(अनिल सैनी)। आज़ादी के 70 वर्ष बाद भी प्रदेश का पिछड़ा वर्ग विशेषकर पिछड़ा वर्ग – ए शिक्षा , नोकरियों व राजनीतिक क्षेत्र में उपेक्षित है । सभी राजनैतिक पार्टिया इस वर्ग के साथ छल करती आ रही हैं। प्रदेश की सरकारी नोकरियों विशेषकर श्रेणी-1 व 2 में आज तक मंडल कमीशन की रिपोर्ट के अनुसार 27% आरक्षण लागू नही किया। विश्वविद्यालयों में आरक्षित वर्ग को बाहर करने के लिए 13- पॉइंट रोषटर प्रणाली लागू करवा दी। जबकि सवर्ण वर्ग के आर्थिक आरक्षण को मात्र 3 दिन में पास करके केंद्र व राज्यों में तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया। वर्तमान प्रदेश सरकार ने तो माननीय उच्चतम न्यायालय व राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग की सिफारिशों को अंगूठा दिखाते हुए एक अधिसूचना द्वारा पिछड़े वर्ग के आरक्षण पर क्रीमीलेयर लगाकर आरक्षण को लगभग समाप्त करने का तुगलकी फरमान जारी कर दिया और मुख्यमंत्री जी इस विषय पर पिछड़ा वर्ग के साथ चर्चा करने के लिए भी तैयार नहीं।इस अधिसूचना से समाज के बच्चे शिक्षण संस्थानों में प्रवेश व नोकरियों से वंचित हो रहे है।भर्ती एजेंसियों में मनुवादी लोगों के वर्चस्व के चलते गैरपारदर्शी किर्याकलापो द्वारा आरक्षित वर्ग के साथ अन्याय किया जा रहा है।ये शब्द पिछड़ा वर्ग कल्याण महासभा हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष प्रो0 आर0सी0लिम्बा ने बतौर मुख्यातिथि जींद की कुम्हार धर्मशाला में पिछड़ा वर्ग के कर्मचारियों, जागरूक एवं बुद्धिजीवी वर्ग द्वारा आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कहे।प्रो0लिम्बा ने आह्वान किया कि जिसकी जितनी संख्या उतनी राजनीति में हिस्सेदारी मिलनी चाहिए। अब तक किसी भी पार्टी ने लोकसभा की बी0सी0 – ए को टिकट नहीं दी है जिसके कारण इस वर्ग में गहरा रोष है। महासभा सरकार से मांग करती है कि क्रीमीलेयर संबंधी असंवैधानिक अधिसूचना 2018 को रदद् किया जाए , श्रेणी-1 व 2 की नोकरियों में 16% व 11% आरक्षण पूर्ण किया जाए। लोकसभा व विधानसभा में आबादी के अनुपात में टिकटें दी जाये। पंचायती राज संस्थाओं व स्थानीय निकायों में बी0 सी0 आरक्षण हेतु विधानसभा में विधायक लाकर पास करवाया जाए , सभी निगमों/ बोर्डों में चेयरमैन व सदस्यो की नियुक्ति 16% व 11% के अनुपात में की जाए। यदि सरकार व अन्य पार्टीयाँ इन मांगों की उपेक्षा करेगी तो इन चुनावों व आगामी विधानसभा चुनावों में एक जुट होकर पिछड़ा वर्ग सबक सिखाएगा। बैठक को पिछड़ा वर्ग समिति के प्रदेशाध्यक्ष शांताकुमार आर्य रोहतक ने संबोधित करते हुए कहा कि पिछड़ा वर्ग को संगठित होकर अपने अधिकारों के लिए सड़कों पर आना होगा। सभा को महासभा के महासचिव इंद्र सिंह जाजनवाला , उपप्रधान के0 सी0 कंबोज वरिष्ठ उपप्रधान राजबीर सोनी भुन्ना , मा0 रविन्द्र मा0 भूप सिंह वर्मा , धर्मपाल निडाना , रामकिशन प्रजापति , डॉ0 जितेंद्र कुमार, नरेश किनाना , रामकेश , राजपाल , रमेश वी0 एल0 डी0 ए0 , डॉ0 बलवंत सिंह आदि काफी संख्या के पिछड़ा वर्ग के कर्मचारी, बुद्धिजीवी लोग उपस्थित थे।